Latest News

चारधाम यात्रा को सुगम बनाने के लिए गंभीरता से करें कार्य: जिलाधिकारी

जिलाधिकारी ने मेडिकल कॉलेज के सभागार में चारधाम यात्रा की बैठक ली

अस्पताल में सभी स्वास्थ्य उपकरणों को चालू अवस्था में रखें

यात्रा मार्गो में स्थापित पेयजल टैंकों व शहर में नियमित रूप से करें साफ-सफाई

सूचना/08 मई, 2024ः चारधाम यात्रा को सुगम बनाने के लिए जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने बेस चिकित्सालय श्रीकोट के सभागार में संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने बैठक में नगर निगम, पेयजल, पुलिस, स्वास्थ्य विभाग, और अन्य संबंधित अधिकारियों को आवश्यक तैयारियां पूर्ण करने के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने अस्पताल का निरीक्षण भी किया।
जिलाधिकारी ने चारधाम यात्रा की बैठक लेते हुए सभी अधिकारियों को यात्रा से जुड़ी उनकी जिम्मेदारियों के बारे में आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यात्रियों की सुरक्षा और सुविधा को ध्यान में रखते हुए सभी व्यवस्थाओं को पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि जनपद क्षेत्रांतर्गत यात्रा मार्ग के विभिन्न पड़ावों पर पेयजल, सीसीटीवी, शौचालय, साइन बोर्ड, स्ट्रीट लाइट, पार्किंग व्यवस्था करना सुनिश्चित करें।
जिलाधिकारी ने कहा कि चारधाम यात्रा के सफल संचालन के लिए श्रीनगर में कन्ट्रोल रुम स्थापित करें । साथ ही कहा कि पार्किंग स्थलों के पास मोबाईल टॉयलेट की व्यवस्था करवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने लैण्डस्लाईड को देखते हुए लोनिवि के अधिकारियों को संवेदनशील स्थानों पर बड़े आकार का चेतावनी साईन बोर्ड लगाने के निर्देश दिये हैं। ताकि ट्रेफिक को समय रहते वैकल्पिक मार्ग पर डाइवर्ट किया जा सके। उन्होंने परिवहन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि यात्रा मार्ग से गुरजने वाले प्रत्येक वाहन चालक का एल्कोहॉलिक टेस्ट व वाहन संचालन की समयावधि पर विशेष बल दिये जाने को कहा। जिलाधिकारी ने बेस चिकित्सालय श्रीकोट के सीएमएस को निर्देश दिये कि वे एक्सीडेंटल केस व कार्डियक मरीजों के उपचार की समुचित व्यवस्था करना सुनिश्चित करें।
जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारी को यात्रा मार्ग के होटलों, ढाबों, मिष्ठान दुकानों आदि का निरंतर निरीक्षण करने के निर्देश भी दिये। उन्होंने यह भी कहा कि बाहरी लोगों के सत्यापन करना सुनिश्चित करें। साथ ही उन्होंने कहा कि शहर में घूम रहे आवारा पशुओं को गौशाला में रखें, जिससे शहर में लग रहे जाम से निजात मिल सकेगा।
उसके उपरांत जिलाधिकारी ने बेस अस्पताल श्रीकोट का निरीक्षण भी किया। उन्होंने सीएमएस को अस्पताल की सभी कमियां दूर करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन सिलेंडरों को चालू अवस्था में रखना सुनिश्चित करें। कहा की किसी भी तरह की लापरवाही बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
अस्पताल के निरीक्षण के बाद जिलाधिकारी ने श्रीकोट व श्रीनगर मार्ग पर स्थापित विभिन्न पेयजल टैंकों, साफ-सफाई व्यवस्था सहित अन्य का जायजा लिया। उन्होंने यात्रा मार्ग पर पेयजल टैंकों को चेक करते उसी पानी का सैंपल लिया। उन्होंने जल संस्थान व जल निगम के अधिकारियों को नियमित रूप से पेयजल टैंकों की सफाई करने के निर्देश दिये। इस दौरान उन्होंने शहर में कूड़ेदान लगाने व साफ-सफाई करने के निर्देश नगर निगम को दिये। उन्होंने उपजिलाधिकारी श्रीनगर, स्वास्थ्य विभाग, पुलिस सहित अन्य अधिकारियों को कहा कि चारधाम यात्रा को सुगम बनाने के लिए गंभीरता से कार्य करें।
बैठक में प्राचार्य मेडिकल कॉलेज चंद्र मोहन सिंह, उपजिलाधिकारी श्रीनगर नूपुर वर्मा, अधिशासी अभियंता जल संस्थान एस.के. रॉय, जल निगम दीक्षा नौटियाल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


जिला सूचना अधिकारी
पौड़ी गढ़वाल।

जिलाधिकारी ने मेडिकल कॉलेज के सभागार में चारधाम यात्रा की बैठक ली

अस्पताल में सभी स्वास्थ्य उपकरणों को चालू अवस्था में रखें

यात्रा मार्गो में स्थापित पेयजल टैंकों व शहर में नियमित रूप से करें साफ-सफाई

सूचना/08 मई, 2024ः चारधाम यात्रा को सुगम बनाने के लिए जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने बेस चिकित्सालय श्रीकोट के सभागार में संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने बैठक में नगर निगम, पेयजल, पुलिस, स्वास्थ्य विभाग, और अन्य संबंधित अधिकारियों को आवश्यक तैयारियां पूर्ण करने के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने अस्पताल का निरीक्षण भी किया।
जिलाधिकारी ने चारधाम यात्रा की बैठक लेते हुए सभी अधिकारियों को यात्रा से जुड़ी उनकी जिम्मेदारियों के बारे में आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यात्रियों की सुरक्षा और सुविधा को ध्यान में रखते हुए सभी व्यवस्थाओं को पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि जनपद क्षेत्रांतर्गत यात्रा मार्ग के विभिन्न पड़ावों पर पेयजल, सीसीटीवी, शौचालय, साइन बोर्ड, स्ट्रीट लाइट, पार्किंग व्यवस्था करना सुनिश्चित करें।
जिलाधिकारी ने कहा कि चारधाम यात्रा के सफल संचालन के लिए श्रीनगर में कन्ट्रोल रुम स्थापित करें । साथ ही कहा कि पार्किंग स्थलों के पास मोबाईल टॉयलेट की व्यवस्था करवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने लैण्डस्लाईड को देखते हुए लोनिवि के अधिकारियों को संवेदनशील स्थानों पर बड़े आकार का चेतावनी साईन बोर्ड लगाने के निर्देश दिये हैं। ताकि ट्रेफिक को समय रहते वैकल्पिक मार्ग पर डाइवर्ट किया जा सके। उन्होंने परिवहन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि यात्रा मार्ग से गुरजने वाले प्रत्येक वाहन चालक का एल्कोहॉलिक टेस्ट व वाहन संचालन की समयावधि पर विशेष बल दिये जाने को कहा। जिलाधिकारी ने बेस चिकित्सालय श्रीकोट के सीएमएस को निर्देश दिये कि वे एक्सीडेंटल केस व कार्डियक मरीजों के उपचार की समुचित व्यवस्था करना सुनिश्चित करें।
जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारी को यात्रा मार्ग के होटलों, ढाबों, मिष्ठान दुकानों आदि का निरंतर निरीक्षण करने के निर्देश भी दिये। उन्होंने यह भी कहा कि बाहरी लोगों के सत्यापन करना सुनिश्चित करें। साथ ही उन्होंने कहा कि शहर में घूम रहे आवारा पशुओं को गौशाला में रखें, जिससे शहर में लग रहे जाम से निजात मिल सकेगा।
उसके उपरांत जिलाधिकारी ने बेस अस्पताल श्रीकोट का निरीक्षण भी किया। उन्होंने सीएमएस को अस्पताल की सभी कमियां दूर करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन सिलेंडरों को चालू अवस्था में रखना सुनिश्चित करें। कहा की किसी भी तरह की लापरवाही बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
अस्पताल के निरीक्षण के बाद जिलाधिकारी ने श्रीकोट व श्रीनगर मार्ग पर स्थापित विभिन्न पेयजल टैंकों, साफ-सफाई व्यवस्था सहित अन्य का जायजा लिया। उन्होंने यात्रा मार्ग पर पेयजल टैंकों को चेक करते उसी पानी का सैंपल लिया। उन्होंने जल संस्थान व जल निगम के अधिकारियों को नियमित रूप से पेयजल टैंकों की सफाई करने के निर्देश दिये। इस दौरान उन्होंने शहर में कूड़ेदान लगाने व साफ-सफाई करने के निर्देश नगर निगम को दिये। उन्होंने उपजिलाधिकारी श्रीनगर, स्वास्थ्य विभाग, पुलिस सहित अन्य अधिकारियों को कहा कि चारधाम यात्रा को सुगम बनाने के लिए गंभीरता से कार्य करें।
बैठक में प्राचार्य मेडिकल कॉलेज चंद्र मोहन सिंह, उपजिलाधिकारी श्रीनगर नूपुर वर्मा, अधिशासी अभियंता जल संस्थान एस.के. रॉय, जल निगम दीक्षा नौटियाल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


जिला सूचना अधिकारी
पौड़ी गढ़वाल।

कार्यालय जिला सूचना अधिकारी, पौड़ी गढ़वाल।

✒️प्रेस नोट✒️

चारधाम यात्रा को सुगम बनाने के लिए गंभीरता से करें कार्य: जिलाधिकारी

जिलाधिकारी ने मेडिकल कॉलेज के सभागार में चारधाम यात्रा की बैठक ली

अस्पताल में सभी स्वास्थ्य उपकरणों को चालू अवस्था में रखें

यात्रा मार्गो में स्थापित पेयजल टैंकों व शहर में नियमित रूप से करें साफ-सफाई

सूचना/08 मई, 2024ः चारधाम यात्रा को सुगम बनाने के लिए जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने बेस चिकित्सालय श्रीकोट के सभागार में संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने बैठक में नगर निगम, पेयजल, पुलिस, स्वास्थ्य विभाग, और अन्य संबंधित अधिकारियों को आवश्यक तैयारियां पूर्ण करने के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने अस्पताल का निरीक्षण भी किया।
जिलाधिकारी ने चारधाम यात्रा की बैठक लेते हुए सभी अधिकारियों को यात्रा से जुड़ी उनकी जिम्मेदारियों के बारे में आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यात्रियों की सुरक्षा और सुविधा को ध्यान में रखते हुए सभी व्यवस्थाओं को पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि जनपद क्षेत्रांतर्गत यात्रा मार्ग के विभिन्न पड़ावों पर पेयजल, सीसीटीवी, शौचालय, साइन बोर्ड, स्ट्रीट लाइट, पार्किंग व्यवस्था करना सुनिश्चित करें।
जिलाधिकारी ने कहा कि चारधाम यात्रा के सफल संचालन के लिए श्रीनगर में कन्ट्रोल रुम स्थापित करें । साथ ही कहा कि पार्किंग स्थलों के पास मोबाईल टॉयलेट की व्यवस्था करवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने लैण्डस्लाईड को देखते हुए लोनिवि के अधिकारियों को संवेदनशील स्थानों पर बड़े आकार का चेतावनी साईन बोर्ड लगाने के निर्देश दिये हैं। ताकि ट्रेफिक को समय रहते वैकल्पिक मार्ग पर डाइवर्ट किया जा सके। उन्होंने परिवहन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि यात्रा मार्ग से गुरजने वाले प्रत्येक वाहन चालक का एल्कोहॉलिक टेस्ट व वाहन संचालन की समयावधि पर विशेष बल दिये जाने को कहा। जिलाधिकारी ने बेस चिकित्सालय श्रीकोट के सीएमएस को निर्देश दिये कि वे एक्सीडेंटल केस व कार्डियक मरीजों के उपचार की समुचित व्यवस्था करना सुनिश्चित करें।
जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारी को यात्रा मार्ग के होटलों, ढाबों, मिष्ठान दुकानों आदि का निरंतर निरीक्षण करने के निर्देश भी दिये। उन्होंने यह भी कहा कि बाहरी लोगों के सत्यापन करना सुनिश्चित करें। साथ ही उन्होंने कहा कि शहर में घूम रहे आवारा पशुओं को गौशाला में रखें, जिससे शहर में लग रहे जाम से निजात मिल सकेगा।
उसके उपरांत जिलाधिकारी ने बेस अस्पताल श्रीकोट का निरीक्षण भी किया। उन्होंने सीएमएस को अस्पताल की सभी कमियां दूर करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन सिलेंडरों को चालू अवस्था में रखना सुनिश्चित करें। कहा की किसी भी तरह की लापरवाही बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
अस्पताल के निरीक्षण के बाद जिलाधिकारी ने श्रीकोट व श्रीनगर मार्ग पर स्थापित विभिन्न पेयजल टैंकों, साफ-सफाई व्यवस्था सहित अन्य का जायजा लिया। उन्होंने यात्रा मार्ग पर पेयजल टैंकों को चेक करते उसी पानी का सैंपल लिया। उन्होंने जल संस्थान व जल निगम के अधिकारियों को नियमित रूप से पेयजल टैंकों की सफाई करने के निर्देश दिये। इस दौरान उन्होंने शहर में कूड़ेदान लगाने व साफ-सफाई करने के निर्देश नगर निगम को दिये। उन्होंने उपजिलाधिकारी श्रीनगर, स्वास्थ्य विभाग, पुलिस सहित अन्य अधिकारियों को कहा कि चारधाम यात्रा को सुगम बनाने के लिए गंभीरता से कार्य करें।
बैठक में प्राचार्य मेडिकल कॉलेज चंद्र मोहन सिंह, उपजिलाधिकारी श्रीनगर नूपुर वर्मा, अधिशासी अभियंता जल संस्थान एस.के. रॉय, जल निगम दीक्षा नौटियाल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


जिला सूचना अधिकारी
पौड़ी गढ़वाल।

जिलाधिकारी ने मेडिकल कॉलेज के सभागार में चारधाम यात्रा की बैठक ली

अस्पताल में सभी स्वास्थ्य उपकरणों को चालू अवस्था में रखें

यात्रा मार्गो में स्थापित पेयजल टैंकों व शहर में नियमित रूप से करें साफ-सफाई

सूचना/08 मई, 2024ः चारधाम यात्रा को सुगम बनाने के लिए जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने बेस चिकित्सालय श्रीकोट के सभागार में संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने बैठक में नगर निगम, पेयजल, पुलिस, स्वास्थ्य विभाग, और अन्य संबंधित अधिकारियों को आवश्यक तैयारियां पूर्ण करने के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने अस्पताल का निरीक्षण भी किया।
जिलाधिकारी ने चारधाम यात्रा की बैठक लेते हुए सभी अधिकारियों को यात्रा से जुड़ी उनकी जिम्मेदारियों के बारे में आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यात्रियों की सुरक्षा और सुविधा को ध्यान में रखते हुए सभी व्यवस्थाओं को पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि जनपद क्षेत्रांतर्गत यात्रा मार्ग के विभिन्न पड़ावों पर पेयजल, सीसीटीवी, शौचालय, साइन बोर्ड, स्ट्रीट लाइट, पार्किंग व्यवस्था करना सुनिश्चित करें।
जिलाधिकारी ने कहा कि चारधाम यात्रा के सफल संचालन के लिए श्रीनगर में कन्ट्रोल रुम स्थापित करें । साथ ही कहा कि पार्किंग स्थलों के पास मोबाईल टॉयलेट की व्यवस्था करवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने लैण्डस्लाईड को देखते हुए लोनिवि के अधिकारियों को संवेदनशील स्थानों पर बड़े आकार का चेतावनी साईन बोर्ड लगाने के निर्देश दिये हैं। ताकि ट्रेफिक को समय रहते वैकल्पिक मार्ग पर डाइवर्ट किया जा सके। उन्होंने परिवहन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि यात्रा मार्ग से गुरजने वाले प्रत्येक वाहन चालक का एल्कोहॉलिक टेस्ट व वाहन संचालन की समयावधि पर विशेष बल दिये जाने को कहा। जिलाधिकारी ने बेस चिकित्सालय श्रीकोट के सीएमएस को निर्देश दिये कि वे एक्सीडेंटल केस व कार्डियक मरीजों के उपचार की समुचित व्यवस्था करना सुनिश्चित करें।
जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारी को यात्रा मार्ग के होटलों, ढाबों, मिष्ठान दुकानों आदि का निरंतर निरीक्षण करने के निर्देश भी दिये। उन्होंने यह भी कहा कि बाहरी लोगों के सत्यापन करना सुनिश्चित करें। साथ ही उन्होंने कहा कि शहर में घूम रहे आवारा पशुओं को गौशाला में रखें, जिससे शहर में लग रहे जाम से निजात मिल सकेगा।
उसके उपरांत जिलाधिकारी ने बेस अस्पताल श्रीकोट का निरीक्षण भी किया। उन्होंने सीएमएस को अस्पताल की सभी कमियां दूर करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन सिलेंडरों को चालू अवस्था में रखना सुनिश्चित करें। कहा की किसी भी तरह की लापरवाही बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
अस्पताल के निरीक्षण के बाद जिलाधिकारी ने श्रीकोट व श्रीनगर मार्ग पर स्थापित विभिन्न पेयजल टैंकों, साफ-सफाई व्यवस्था सहित अन्य का जायजा लिया। उन्होंने यात्रा मार्ग पर पेयजल टैंकों को चेक करते उसी पानी का सैंपल लिया। उन्होंने जल संस्थान व जल निगम के अधिकारियों को नियमित रूप से पेयजल टैंकों की सफाई करने के निर्देश दिये। इस दौरान उन्होंने शहर में कूड़ेदान लगाने व साफ-सफाई करने के निर्देश नगर निगम को दिये। उन्होंने उपजिलाधिकारी श्रीनगर, स्वास्थ्य विभाग, पुलिस सहित अन्य अधिकारियों को कहा कि चारधाम यात्रा को सुगम बनाने के लिए गंभीरता से कार्य करें।
बैठक में प्राचार्य मेडिकल कॉलेज चंद्र मोहन सिंह, उपजिलाधिकारी श्रीनगर नूपुर वर्मा, अधिशासी अभियंता जल संस्थान एस.के. रॉय, जल निगम दीक्षा नौटियाल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button