Latest News

झंडिचौड़ पश्चिमी – आर्य गिरधारीलाल महर्षि दयानंद ट्रस्ट (पंजीकृत) कोटद्वार के संस्थापक कोषाध्यक्ष बचन सिंह गुसाईं निवासी के आकस्मिक निधन पर आयोजित हुई शोक सभा


झंडिचौड़ पश्चिमी – आर्य गिरधारीलाल महर्षि दयानंद ट्रस्ट (पंजीकृत) कोटद्वार के संस्थापक कोषाध्यक्ष श्री बचन सिंह गुसाईं (85 वर्ष) निवासी झंडिचौड़ पश्चिमी के आकस्मिक निधन पर श्री विश्वकर्मा सेवा समिति झंडिचौड़ पश्चिमी में एक शोक सभा की गई जिसमें दो मिनट का मौन रखकर उनको भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई व उनकी आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की गई । 12 अप्रेल को प्रातः ब्रेन हैमरेज के कारण उन्हें बेस अस्पताल कोटद्वार में भर्ती किया गया जहां उन्होनें अंतिम सांस ली , अपरान्ह महर्षि कण्व की पावन भूमि कण्वाश्रम में मालिनि नदी के तट पर वैदिक रीति से उनका अंतिम संस्कार किया गया , उनके पुत्रगणों जय सिंह, विजय सिंह, गजेसिंह, नैन सिंह व संतन सिंह ने चिता को मुखाग्नि दी ।
शोक ब्यक्त करते हुए आर्य गिरधारीलाल महर्षि दयानंद ट्रस्ट के अध्यक्ष डॉ. सुरेन्द्रलाल आर्य ‘सर्वोदयी पुरूष’ ने कहा कि श्री बचन सिंह गुसाईं ट्रस्ट के संस्थापक कोषाध्यक्ष थे वे ट्रस्ट के माध्यम से दीन दुखियों की सेवा के लिए तत्पर रहते थे, वे क्षेत्र वासियों के दुःख सुख से जुड़े रहते थे ।
निवर्तमान पार्षद पूर्व प्रधान श्री सुखपाल शाह ने कहा कि गुसाईं जी 1997 में मध्यप्रदेश पुलिस से सेवानिवृत्ति के बाद ट्रस्ट, श्री विश्वकर्मा सेवा समिति के संरक्षक व वर्ड विज़न आदि संस्थाओं से जुड़े रहे व जनसरोकारों को समर्पित रहे जिसके लिए भारतीय दलित साहित्य अकादमी द्वारा उन्हें “कर्मबीर जयानन्द भारतीय स्मृति सम्मान – 2010” से सम्माननित किया गया था ।
शोक सभा को पूर्व प्रधान पूरण चंद्र शर्मा, पूर्व प्रधान श्रीमती पुष्पा शाह,पूर्व क्षेत्र पंचायत सदस्य बुद्धिप्रकाश, पूर्व प्रधान कृष्ण चन्द्र खंतवाल , पूर्व कोषाधिकारी टीका राम, हरि सिंह रावत ने संबोधित किया। शोक सभा मे चतर सिंह गुसाईं, पूर्व प्रधान केशर सिंह,बीर सिंह, ओमप्रकाश, जगत राम,
चंद्रपाल शाह, भाग सिंह, रामसिंह आदि मौजूद रहे ।
डॉ. सुरेन्द्रलाल आर्य ‘सर्वोदयी पुरूष’
संस्थापक अध्यक्ष
आर्य गिरधारीलाल महर्षि दयानंद ट्रस्ट (पंजी.)
कँवनगरी कोटद्वार

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button