Uncategorized

आपदा से सुरक्षा हेतु जो भी निर्माण कार्य गतिमान है उन्हें एक सप्ताह के भीतर पूरा करें : जिलाधिकारी

    मानसून सीजन में अलर्ट मोड़ पर रहें : जिलाधिकारी

आपदा से सुरक्षा हेतु जो भी निर्माण कार्य गतिमान है उन्हें एक सप्ताह के भीतर पूरा करें

 मानसून के दौरान आपदा की दृष्टि से संवेदनशील इलाकों नगर निगम कोटद्वार व उसके आसपास के इलाकों में आपदा से बचाव हेतु सुरक्षा कार्यों की समीक्षा बैठक जिला अधिकारी डॉ आशीष चौहान की अध्यक्षता में नगर निगम कोटद्वार के सभागार में संपन्न हुई। 

 जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि मानसून सीजन में अलर्ट मोड़ पर रहें साथ ही अपना फोन भी 24 घंटे खुला रखें।  उन्होंने उप जिलाधिकारी कोटद्वार को निर्देश दिए की आपदा से राहत व बचाव कार्यों के दृष्टिगत तहसील में हर आवश्यक उपकरण  उपलब्ध रखें, ताकि आवश्यकता पड़ने पर उसे उपयोग में लाया जा सके। उन्होंने  तहसील स्तर के आपदा कंट्रोल रूम को 24 घंटे सक्रिय रखने के निर्देश देते हुए कहा कि क्षेत्र में अतिवृष्टि होने की दशा में पुलिस विभाग के सीओ व राजस्व विभाग के एसडीएम या तहसीलदार कंट्रोल रूम में अनिवार्य रूप से उपस्थित रहेगे। 

जिलाधिकारी ने सिंचाई विभाग, नगर निगम व लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए की आपदा से सुरक्षा हेतु जो भी निर्माण कार्य गतिमान है उन्हें एक सप्ताह के भीतर पूरा करना सुनिश्चित करें।

उन्होंने आपदा प्रबंधन अधिकारी को निर्देश दिए की आपदा की दृष्टि से संवेदनशील इलाकों में स्थापित थाना व तहसीलो को 24 घंटे के भीतर ड्रैगन लाइट उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।

उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि दुगड्डा व कोटद्वार के बीच 8 किलोमीटर क्षेत्र के अंतर्गत चिन्हित 35 लैंड स्लाइड जोन में से अति संवेदनशील 5 जोन के दोनों तरफ एक-एक पोकलैंड मशीन की तैनाती करना सुनिश्चित करें।

उन्होंने नगर निगम व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निगम क्षेत्रान्तर्गत डेंगू कंट्रोल रूम स्थापित करने के साथ ही उसमें एक सीनियर डॉक्टर की तैनाती करने के निर्देश दिए हैं।

जिलाधिकारी ने रिखणीखाल के अन्तर्गरत कालीघाट रौथा पेयजल योजना के निर्माण कार्यों की जांच हेतु एसडीएम लैंसडौन को निर्देश दिए हैं।

जिलाधिकारी ने वन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि मालन क्षेत्र के अंतर्गत कण्वाश्रम के आसपास होने वाली बारिश की तीव्रता की सूचना आपदा कंट्रोल रूम और तहसील को उपलब्ध कराना सुरक्षित करें ताकि निचले इलाको में स्थिति के अनुसार अलर्ट जारी किया जा सके।
वहीं जिलाधिकारी ने नगर निगम क्षेत्र के अंतर्गत विभिन्न स्थलों का निरीक्षण भी किया तथा संबंधी अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

बैठक में नगर आयुक्त कोटद्वार वैभव गुप्ता, अपर पुलिस अधीक्षक जया बलूनी, उपजिलाधिकारी सोहन सिंह, सीईओ कोटद्वार वैभव, एसीएमओ डॉ. पारुल, अधिशासी अभियंता लोनिवि डीपी सिंह, अधिशासी अभियंता सिंचाई खंड दुगड्डा अजय जॉन, अधिशासी अभियंता जल निगम आशीष मिश्रा, एआरटीओ अरुण सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
◆◆◆◆ ADIO, DIPR, GARHWAL◆◆◆◆

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please Disable Your Adblocker !