Latest News

लोकसभा स्पीकर पद के लिए होगा चुनाव, बिरला बनाम के.सुरेश के बीच होगा मुकाबला:

लोक सभा स्पीकर पद के लिए होगा चुनाव बिरला बनाम के.सुरेश के बीच होगा मुकाबला: लोक सभा स्पीकर पद के लिए सीधा चुनाव होगा। एनडीए गठबंधन से ओम बिरला तथा विपक्ष के उम्मीदवार एन डी गठबंधन के उम्मीदवार के. सुरेश के बीच रोचक हो सकता है मुकाबला।

कल लोक सभा स्पीकर पद के लिए सीधा चुनाव होगा। काग्रेंस नेता राहुल गाँधी ने जिस तरह से बयान देकर लोक सभा उपाध्यक्ष का पद विपक्ष को ना देने की सरकार की योजना के चलते लोक सभा स्पीकर स्पीकर पद के लिए विपक्ष का संयुक्त उम्मीदवार उतारने की बात कही। भारतीय जनता पार्टी तथा उसके सहयोगी एनडीए गठबंधन इस बार भी लोक सभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद अपने पास रखेगा।

भारतीय जनता पार्टी सूत्रों के अनुसार सरकार इस बार विपक्ष के दबाव को हर हाल में बैक फुट पर रखने तथा विपक्ष के दबाव में ना आने की रणनीति पर चलेगी, जिसका पहला उदाहरण सत्तारूढ़ दल लोक सभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष अपने पास रख रही है। वहीं वर्तमान हालात में संख्या बल एनडीए गठबंधन के पास है और अध्यक्ष उपाध्यक्ष का पद फिलहाल सत्तारूढ़ गठबंधन के पास है। एनडीए के पास फिलहाल 295 वोट तय बताये जा रहे हैं तथा चुनाव जीतने के लिए उनके पास बहुमत है।

विपक्ष का इन्डी गठबंधन यह जानता है लेकिन वह सरकार को उलझाये रखने की रणनीति पर आगे बढ़ रहा है, इसी नीति के तहत विपक्ष ने विगत लोक सभा चुनाव में सरकार को उलझाये रखा तथा सरकार की चुनावी उम्मीदों को कुछ हद तक रोक दिया था। आखिर विपक्ष किस आधार पर लड़ रहा है चुनाव : याद करें चुनाव नतीजों के दिन कांग्रेस के सौ से कम सदस्य चुनाव जीते जबकि भाजपा को दो सौ चालीस लेकिन एक रणनीति के तहत कांग्रेस नेता राहुल गाँधी प्रेस कांफ्रेंस करते हैं तथा उनकी शारीरिक भाषा इस तरह थी कि जैसे भाजपा चुनाव हार गई हो यद्यपि एनडीए 292 सीट जीतकर बहुमत हासिल कर चुका था लेकिन देश के सामने एक माइंड गेम चला गया जिसमें भाजपा को बड़ी हार दिखाकर सत्तारूढ़ दल की जीत का स्वाद खट्टा कर दिया गया था।

वीते लोक सभा चुनाव में अगर भाजपा 240 और एनडीए, 292 सीट तक पंहुची तो मोदी के बल पर यह जीत और बडी हो सकती थी लेकिन विपक्ष ने सरकार और भाजपा को कई मु्ददो पर इस तरह घेरा की जिसकी काट भाजपा रणनीतिकार नही ढूंढ पाये तथा भाजपा की जीत का आंकड़ा जहाँ 320सीट तक तय माना जा रहा था वहाँ भाजपा 240तक सिमटी फिलहाल तो बहुमत सत्तारूढ़ दल के पास है तथा लोक सभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का पद सत्तारूढ़ गठबंधन को मिलना तय है लेकिन विपक्ष इस बार सरकार को हर हाल में घेरने की रणनीति के तहत ही आगे बढने पर चलेगी यह तय है इसके साथ ही भाजपा के लिए भी सरकार चलाने में बड़ी मसक्कत करनी होगी यह तय है।। अजय तिवाड़ी।।।।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please Disable Your Adblocker !